उत्तराखंड

बीजेपी के बाद कांग्रेस: अग्रवाल जोड़ी का रहस्यमय बदलाव!

लक्ष्मी अग्रवाल और पीके अग्रवाल इससे पहले भी बीजेपी मे रहें है

लेकिन विधानसभा चुनाव में भाजपा द्वारा टिकट न दिए जाने के कारण चलते  पार्टी छोड़ कांग्रेस का दामन थामा था 2017 में छोड़ी थी पार्टी

प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा श्री पी.के. अग्रवाल एवं श्रीमती लक्ष्मी अग्रवाल की पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते उन्हें उनके दायित्वों से मुक्त करते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से 6 साल के लिए निष्कासित किया गया है।

उपरोक्त जानकारी देते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता शीशपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मा0 अध्यक्ष श्री करन माहरा जी के निर्देश पर प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति के अध्यक्ष श्री नवप्रभात ने श्री पी.के. अग्रवाल एवं श्रीमती लक्ष्मी अग्रवाल को पार्टी विरोधी गतिविधियों तथा केन्द्रीय नेतृत्व के खिलाफ अनर्गल बयानबाजी के चलते उनके वर्तमान पदों से मुक्त करते हुए तत्काल प्रभाव से पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है।

 

उन्होंने कहा कि श्री पी.के. अग्रवाल एवं श्रीमती लक्ष्मी अग्रवाल ने 26 जनवरी जैसे महत्वपूर्ण पर्व एवं दिनाक 4 फनवरी को जिला कांग्रेस कमेटी पछुवादून की महत्वपूर्ण बैठक के अवसर पर भी कार्यक्रम में शामिल होने से दूरी बनाये रखी तथा दिनांक 28 जनवरी, 2024 को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मल्लिकार्जुन खडगे जी के सम्मेलन के दौरान केन्द्रीय नेतृत्व से अभद्रता की जिसे पार्टी नेतृत्व ने गम्भीरता से लिया तथा अनुशासनहीनता मानते हुए दोनों नेताओं को उनके पदों से मुक्त करते हुए पार्टी से निष्कासित करने का निर्णय लिया है।

शीशपाल बिष्ट ने कहा कि कांग्रेस पार्टी एक अनुशासित संगठन है तथा इसमें यदि अनुशासनहीनता होती है तो उसे कतई बर्दास्त नहीं किया जायेगा तथा जो भी पार्टी अनुशासन की लाईन पार करेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

Related Articles

Back to top button